Business is booming.

पटना साहिब के चुनावी रण में सियासी दिग्गजों के सामने होंगी गुलफिशां जबी उर्फ सुग्गन

0 2,859

- Advertisement -

लोकसभा चुनाव 2019 में बिहार के सबसे हॉट केक सीट माने जाने वाले पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र की लड़ाई इस बार दिलचस्प होने जा रही है। गुलफिशां जबी उर्फ सुग्गन निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लोकसभा चुनाव में पटना साहिब क्षेत्र से NDA के रविशंकर प्रसाद और महागठबंधन के उम्मीदवार शत्रुघन सिन्हा (Shatrughan Sinha)  के सामने होंगी।

सुग्गन का यह फैसला पटना साहिब के सियासी गलियों में गर्माहट ज़रूर बढ़ाएगा। सुग्गन पटना के वार्ड 53 से निगम पार्षद  रह चुकी हैं उनके चुनाव लड़ने से एनडीए और महागठबंधन के कोर वोट बैंक में सेंधमारी हो सकती है और अपनी समावेशी नेता की छवि के बदौलत क्षेत्र में भी उनकी अच्छी पकड़ है।

कौन हैं गुलफिशां जबी उर्फ सुग्गन

गुलफिशा जबी उर्फ सुग्गन का सत्ताधारी पार्टी जदयू से नाता रहा है। सुग्गन जदयू की महिला प्रकोष्ठ की प्रवक्ता रह चुकी है। साथ ही सुग्गन पटना नगर निगम की वार्ड संख्या 53 से निगम पार्षद का चुनाव भी जीत चुकी है। वर्तमान में गुलफिशां जबी बिहार राज्य हज कमेटी की सदस्य हैं।

बिहार डेली से बात करते हुए सुग्गन ने बताया की पार्षद रहते हुए उन्होंने क्षेत्र की समस्याओं को करीब से महसूस किया है। चुनाव दर चुनाव विकास के बड़े-बड़े वादे किये जाते हैं लेकिन चुनाव ख़त्म होते ही जनता को उनके हालत पर छोड़कर नेता हवा में उड़ जाते हैं। सुग्गन कहती हैं कमोबेश सभी पार्टी के नेताओं ने पटना साहिब की जनता को ठगा है। अगर में चुनाव जीती तो सबसे पहले लोगों के जीवन स्तर में बदलाव लाने के लिए अभियान छेड़ूँगी। महिलाओं से जुडी समस्या और शिक्षा के क्षेत्र में काम करना मेरी पहली प्राथमिकता होगी।

पटना साहिब का जातीय समीकरण

पटना साहिब के जातीय समीकरण की बात करें तो यहां बनिया और यादव मतदाताओं की तादात सबसे ज्यादा है। बड़ी संख्या में कायस्थ, कुर्मी और मुस्लिम मतदाता भी है।

पटना साहिब लोकसभा सीट (Patna Sahib Loksabha Constituency)

Patna sahib Loksabha seat Voter

पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र में 1946249 वोटर हैं जिसमें 54.07 प्रतिशत पुरुष और 45.93 प्रतिशत महिला वोटर हैं। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में शत्रुघ्न सिन्हा 485905 वोट मिले थे और दूसरे नंबर पर कांग्रेस थी जिसने आरजेडी के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था उसे 220100 वोट मिले थे। जेडीयू तीसरे, आम आदमी पार्टी चौथे और समाजवादी पार्टी पांचवें नंबर पर रही थी।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.