Business is booming.

देश के वो राजनेता जो कह गए 2016 में अलविदा

0 108

- Advertisement -

साल 2016 में भारत ने अनेक शख्सियतों को खो दिया। कई महान नेता भारत की राजनीति को  सूना कर गए। इन सभी के जाने से  पूरा भारत रो उठा।

हम आपको ऐसी ही कई राजनीतिक हस्तियों के बारे में बताएंगे जिन्होंने 2016 मे अपनी जिंदगी की आखिरी सांस ली…

एबी बर्धन (25 सितम्बर 1924 – 2 जनवरी 2016)

साल के शुरुआत में हीं वरिष्ठ सीपीआई नेता एबी बर्धन दुनिया को अलविदा कह गए। वह 92 वर्ष के थे। एबी बर्धन ने दिल्ली के जीबी पंत अस्पताल में आखिरी साँस ली।

मुफ्ती मोहम्मद सईद (12 जनवरी 1936 – 7 जनवरी 2016) 

जम्मू एवं कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मुहम्मद सईद का 79 साल की उम्र में  दिल्ली के  अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया। स्वतंत्र भारत के पहले मुस्लिम गृहमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद थे।

बलराम जाखड़ (23 अगस्त 1923 – 3 फरवरी 2016) 

पूर्व लोकसभा अध्यक्ष और कांग्रेस नेता बलराम जाखड़ का 03/02/2016 को 93 वर्ष की आयु में देहान्त हो गया। जाखड़ लंबे समय से ब्रेन स्ट्रोक की बीमारी से जूझ रहे थे। डॉ॰ बलराम जाखड़ भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता थे। वो भारत के पूर्व लोकसभा अध्यक्ष रहने के अलावा मध्यप्रदेश प्रांत के राज्यपाल रह चुके हैं। उनका जन्म पंजाब में 23 अगस्त 1923 को फिरोजपुर जिले के पंचकोसी गाँव में हुआ। उन्होंने राजस्थान के ज़िले सीकर से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी का लोकसभा में प्रतिनिनित्व किया और सन् 1980 से 10 साल तक लोकसभा अध्यक्ष रहे।

लालमुनि चौबे (6 सितंबर 1942 – 25 मार्च 2016)

भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद लाल मुनि चौबे का 25 मार्च 2016 को दिल्ली में निधन हो गया। लालमुनि चौबे बक्सर संसदीय क्षेत्र से 1996 से लेकर 2009 तक लगातार चार बार सांसद रहे थे। लालमुनि चौबे भाजपा के कद्दवार नेता थे और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के काफी प्रिय थे। उनका जन्म 6 सितम्बर 1942 को भभूआ में हुआ था और 1972 में पहली बार बिहार के चैनपुर से विधायक चुने गये थे।

 

राम नरेश यादव (01 जुलाई 1927 – 22 नवंबर 2016)

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रामनरेश यादव (89 वर्ष ) का  लंबी बीमारी के बाद लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) में निधन हो गया। वह 89 वर्ष के थे। रामनरेश यादव मध्य प्रदेश के राज्यपाल भी रहे थे। रामनरेश यादव आजमगढ़ जिले के फूलपुर तहसील के आंधीपुर गाँव के निवासी थे। वह 1977 में जनता दल की सरकार में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे।

जयललिता जयराम (24 फ़रवरी 1948 – 5 दिसम्बर 2016)

5 दिसंबर 2016 की रात 11.30 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली.68 साल की जयललिता को दिल का दौरा पड़ा। डॉक्टरों ने उन्हें बचाने की हरसंभव कोशिश की। यहां तक कि एम्स, दिल्ली के विशेषज्ञ चिकित्सकों और लंदन के नामी-गिरामी चिकित्सक डॉ रिचर्ड से भी संपर्क किया. लेकिन, उन्हें बचाया नहीं जा सका।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.