Business is booming.

Video: शराब और शबाब के बीच बारात में चली गोली, एक युवक की मौत

0 123

- Advertisement -

 

भोजपुर: सरकार लाख दावे ठोक ले बिहार में शराबबंदी अब तक सफल नहीं हो पायी है। ऐसा हम नहीं कह रहे हालात खुद बयाँ कर रहे हैं। मामला आरा का है, जहां शराब के नशे में धुत कुछ लोगों ने एक शादी को रक्तरंजित बारात बना दिया। यहाँ नाच देखने को लेकर दो गुटों में जमकर मारपीट और गोलीबारी हुई। इस घटना में गाँव के एक युवक राकेश कुमार की मौत गोली लगने से हो गयी, जबकि कई अन्य लोग बुरी तरह जख्मी हो गए।

घटना से आक्रोशित गाँव के लोग बाराती और साराती पर टूट पड़े। गुस्साए लोगों ने पूरे बाराती और सराती को बंधक बना लिया तथा जमकर मारपीट भी की। इस पुरे घटनाक्रम के दौरान बाराती और साराती पक्ष के तकरीबन 80 से भी ज्यादा लोग घर के अंदर घंटों बंधक बने रहे। इतना हीं नहीं गुस्साए गाँव वालों ने शव को अपने कब्जे में ले लिया और लड़की वाले के घर पर आ धमके। इस मारपीट में लड़की के पिता के अलावे दर्जनों लोग घायल हो गए जिन्हें इलाज के लिए किसी तरह से आरा सदर अस्पताल लाया जा सका।

दरअसल आरा के नवादा थाना क्षेत्र के चंदवा निवासी सुखी यादव की बेटी की बारात बक्सर जिले के नवानगर से आई थी। बारात में बारबालाओं के नाच का रंगारंग आयोजन किया गया था। उस नाच को देखने के लिए बाराती और सराती के अलावे गाँव के दूसरे लोग भी मौजूद थे। नाच अपने पुरे शबाब पर था जहां मस्ती में चूर कुछ लोग तो बिना पिए झूम रहे थे, लेकिन कुछ लोग नशे में धुत होकर झूम रहे थे। जैसे-जैसे रात ढलती गई नाच परवान चढ़ता गया। मस्ती हुल्लड़बाजी में तब्दील होती गई। फिर भी रात 2 बजे तक सब कुछ शांत हीं रहा, लेकिन अचानक  हुल्लड़बाजी चरम पर पहुँच गयी। जिसे बारात में आये कुछ युवकों ने बात-विचार से रोकने की कोशिश की, पर बात नही बनी और मारपीट शुरू हो गई।

मारपीट के दौरान गोली गाँव के एक युवक को जा लगी जिससे घटनास्थल पर हीं उसकी मौत हो गयी। घटना के बाद आक्रोशित गाँव वालों ने पूरे बाराती ओर सराती पर धावा बोल दिया। आक्रोशित लोगों ने दूल्हे की गाड़ी सहित टेंट, कुर्सी और वहाँ लगी बाइक के अलावा कई वाहनों के शीशे तोड़ दिए।

घटना कि जानकारी मिलने पर कई थानों की पुलिस के साथ हीं SDPO संजय कुमार खुद घटना स्थल पर पहुंचे। काफी मशक्कत के बाद पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम के लिए शव को कब्जे में लिया जा सका। मौके पर पहुंचे आरा प्रखंड के बीडीओ ने मृतक के परिजनों को बीस हजार रुपये का एक चेक भी दिया। मृतक के पिता ने 8 नामजद समेत 15 अन्य के विरुद्ध केस दर्ज कराया है।

गाँव वालों ने बारातियों को हिरासत में लेने के लिए पुलिस पर दबाव बनाया और कई घरों में बारातियो को छुपे होने की बात कही। निशानदेही के आधार पर पुलिस ने आस-पास के कई घरों में छपेमारी करने के बाद चार लोगों को हिरासत में लिया है, साथ हीं गाँव वालों द्वारा लड़की के घर में बंधक बनाए गए करीबन 80 लोगों को छुड़ाया, जिसमे दुल्हन के अलावा दुल्हन की माँ भी शामिल थी। घटना के बाद खबर लिखे जाने तक दूल्हे का पता नही चल सका।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.